Loan

होम लोन क्या है, होम लोन कैसे लें। Home Loan Kaise Le

Home Loan Kaise Le : अपना घर होना हर किसी का सपना होता है, लेकिन महंगाई के कारण बहुत से लोगों को अपना घर नहीं मिल पाता है। इससे वे अपने घर के सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं। ऐसे लोगों की ज़िंदगी बिना खुद के घर के बीत जाती है।

सरकार ने इस समस्या को ध्यान में रखते हुए होम लोन की सुविधा शुरू की है, जिससे लोग घर बनाने के लिए आसानी से लोन ले सकते हैं।

ऐसे में अगर आप होम लोन के बारें में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस जानकारी को पूरा पढ़ें। इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं की होम लोन क्या है, home loan kya hota hai होम लोन कैसे लें। Home Loan Kaise Le

होम लोन का उपयोग करके आप अपना घर बना सकते हैं और अपने सपनों को साकार कर सकते हैं। यह लोन आमतौर पर ब्याज दर के साथ उपलब्ध होता है और इसकी व्याज्य अवधि कुछ वर्षों तक होती है। इससे लोग अपने घर की सपना को हकीकत में बदलने का सपना देख सकते हैं।

होम लोन की सुविधा से बहुत से लोगों को अपना घर बनाने का मौका मिल रहा है। यह एक सकारात्मक कदम है जो लोगों को उनके सपनों को पूरा करने में मदद कर रहा है। इससे समाज में घरों की संपत्ति का निर्माण हो रहा है और लोग अपने परिवार के साथ सुरक्षित और सुखमय जीवन बिता सक रहे हैं।

लेख का पूरा विवरण

होम लोन क्या है home loan kya hota hai

यदि आपके पास घर खरीदने के लिए पूर्ण धन नहीं है, तो बैंक या नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां (NBFC) आपको लंबे समय के लिए घर बनाने के लिए ऋण प्रदान कर सकती हैं।

इस ऋण को आपको निर्धारित किस्तों में चुकाना पड़ता है और इसकी चुकाने की अवधि आमतौर पर दस से बीस वर्षों तक होती है।

यह वित्तीय सुरक्षा, आयकर में राहत, आपकी आने वाली जरूरतों का समर्थन, और आपकी पसंद के हिसाब से रहने की सुविधा प्रदान करता है। इसे होम लोन कहा जाता है।

सामान्यतः, लोग घर/फ्लैट खरीदने, प्लाट या कंस्ट्रक्शन/रिनोवेशन के लिए होम लोन लेते हैं। कई बार घर को बढ़ाने या मरम्मत के लिए भी होम लोन लिया जाता है।

होम लोन लेने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बाते

होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने से पहले, बैंक या वित्तीय कंपनी संक्षेप में आपकी कमाई की जानकारी लेती है ताकि वे यह जान सकें कि आप कितनी कमाई करते हैं और क्या आप उनके द्वारा दी जाने वाली किस्तों को सही तरीके से चुका सकेंगे। होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने की क्षमता आपकी मासिक आमदनी, खर्च, परिवार की आमदनी, संपत्ति, और आय में स्थिरता आदि पर निर्भर करती है।

बैंक या होम लोन देने वाली वित्तीय कंपनी संक्षेप में यह भी देखती है कि आप क्या मासिक आमदनी का कितना प्रतिशत होम लोन (Home Loan) की किस्त के रूप में चुका सकते हैं। यह उनके द्वारा आपको लोन देने के लिए मानद मापदंड होता है।

होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने की अवधि और ब्याज दर भी इस पर निर्भर करती हैं। साथ ही, बैंकों या वित्तीय कंपनियों के द्वारा होम लोन (Home Loan) देने की उम्र सीमा भी तय की जाती है।

अपने स्वयं के घर के सपने को पूरा करने के लिए, आपको केवल घर की कुल कीमत का कुछ प्रतिशत, सामान्यतः 10 या 15 फीसदी, जुटाने की जरूरत होती है। उसके बाद, आप अपनी आमदनी के आधार पर किसी भी बैंक या वित्तीय कंपनी से होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने या घर खरीदने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इन्हे भी जरूर पढ़ें।

आप होम लोन कितना ले सकते है

होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने के लिए आपको अपने मकान या फ्लैट की कीमत का 10-20 फीसदी तक डाउन पेमेंट करना पड़ता है, जो आपका स्वयं का योगदान होता है।

इसके बाद, आपको आपकी प्रॉपर्टी/मकान/फ्लैट की कीमत का 80-90 फीसदी तक लोन (Home Loan) मिल जाता है। इसमें रजिस्ट्रेशन, ट्रांसफर, और स्टाम्प ड्यूटी जैसे चार्ज भी शामिल होते हैं।

यदि लोन देने वाला बैंक या वित्तीय संस्थान आपको ज्यादा रकम होम लोन (Home Loan) के रूप में अनुमोदित कर दे, तो भी आपको सारी रकम लोन के रूप में लेने की जरूरत नहीं होती है।

प्रॉपर्टी पर होम लोन (Home Loan) लेते समय, आपको अधिक से अधिक डाउन पेमेंट करना चाहिए ताकि आपके ऊपर लोन का बोझ कम हो। होम लोन (Home Loan) पर बैंक या वित्तीय संस्थान लंबी अवधि में ब्याज वसूलते हैं, इसलिए यह ध्यान देने वाली बात होती है।

होम लोन लेने की योग्यता | Home Loan Kaise Le

होम लोन (Home Loan) प्राप्त करने पर आपको प्रति माह की कुल आय का 60 गुना तक लोन मिल सकता है। यदि आपने पहले से कोई अन्य लोन जैसे कि पर्सनल लोन, कार लोन, आदि लिया है और आप उसकी EMI अभी भी चुका रहे हैं, तो होम लोन देने वाला बैंक या वित्तीय संस्थान आपकी मासिक किस्त को आपकी आमदनी से कटेगा।

अगर आपका सिबिल स्कोर अच्छा नहीं है या फिर आपने पहले किसी लोन के चुकाने में गलती की है, तो बैंक आपको होम लोन देने से मना कर सकता है। आजकल, सिबिल स्कोर को सुधारने के बहुत से तरीके हैं, जिन्हें आप अपने सिबिल स्कोर को बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

व्यक्तिगत या नौकरीपेशा व्यक्ति दोनों के लिए लोन प्राप्त करने की पात्रता अलग-अलग होती है। बैंक आमतौर पर आपकी कुल मासिक आय का 40% को व्यक्तिगत खर्च के लिए जरूरी मानता है, बाकी राशि पर ही वो आपको होम लोन देता है।

जैसे की, यदि किसी व्यक्ति की मासिक आमदनी 60,000 रुपये है, तो बैंक मानता है कि उसका पर्सनल खर्च कम से कम 25,000 रुपये महीना होगा। अगर उसने किसी अन्य लोन को चुका दिया है, तो कोई बैंक या वित्तीय संस्थान उसे 20 वर्ष के लिए 9% सालाना ब्याज दर पर होम लोन के रूप में 35-40 लाख रुपये तक दे सकता है। यह राशि किसी बिज़नेस को शुरू करने या घर बनाने के लिए एक बड़ी मदद हो सकती है।

इन्हे भी जरूर पढ़ें।

होम लोन लेने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज़

अगर आप सोच रहे हैं कि होम लोन कैसे लें। ( Home Loan Kaise Le ) तो आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज जरूर होने चाहिए। तभी आप होम लोन लेने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। ये आवश्यक दस्तावेज़ बैंक या वित्तीय संस्था को समझने और आपकी पहचान करने में मदद करते हैं।

  • आवेदन पत्र के साथ आपकी फोटो
  • आपके हस्ताक्षर होना जरूरी है।
  • आपको पिछले तीन महीने की सैलरी स्लिप या कुछ बैंक 6 महीने की सैलरी स्लिप मांग सकते हैं।
    बैंक या वित्तीय संस्था को आपके पास आय-कर रिटर्न या फॉर्म 16 चाहिए होता है।
  • आवेदनकर्ता के बैंक खाते का 6 महीने या उससे अधिक का स्टेटमेंट भी आवश्यक होता है।
  • पहचान पत्र, आयु प्रमाण पत्र, और निवास प्रमाण पत्र: आपकी पहचान, आयु साबित करने के लिए आवश्यक होते हैं।
  • होम लोन प्राप्त करने के लिए प्रोसेसिंग फीस भी जमा करनी पड़ती है, जो लोन की रकम पर निर्भर करती है।

ये दस्तावेज़ आपकी होम लोन अनुप्राणित करने में मदद करते हैं, और बैंक या वित्तीय संस्था को आपकी प्राथमिकताओं और पात्रताओं को समझने में मदद मिलती है।

होम लोन के प्रकार

ज्यादातर लोग घर खरीदने या बनाने के लिए ही होम लोन लेते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं की आप बैंक से 5 तरह के होम लोन ले सकते हैं। जिनके बारें में आपको पता होना चाहिए।

घर निर्माण के लिए होम लोन:

होम कंस्ट्रक्शन लोन के नाम से पता चलता है, यह लोन उनके लिए हैं जो अपना घर का निर्माण करना चाहते हैं। इसमें प्लॉट की कीमत के साथ-साथ घर बनाने की लागत भी शामिल हो सकती है। प्लॉट की कीमत तभी शामिल होती है, जब इसे खरीदने के एक साल के भीतर लोन लिया जाता है।

घर खरीदने के लिए होम लोन:

नया फ्लैट या घर खरीदने के लिए जो लोन लिया जाता है उसे होम परचेज लोन कहा जाता है। अगर आप नई प्रॉपर्टी खरीद रहें हैं, तो बैंक से 90 फीसदी तक लोन मिल जाता है। बैंक आसानी से 80 फीसदी तक लोन दे देते हैं। लोन की अवधि 20 से लेकर 30 साल तक हो सकती है।

घर को बड़ा करने के लिए होम लोन:

अगर कोई व्यक्ति अपने मौजूदा घर के साइज को बड़ा करना चाहता है तो वह इसके लिए बैंक से लोन ले सकता है। इस लोन को होम एक्सटेंशन लोन कहते हैं।

घर की मरम्मत के लिए होम लोन:

अगर कोई व्यक्ति अपने मौजूदा घर की मरम्मत, पेंटिंग या नवीनीकरण करना चाहता है तो इसके लिए बैंक से लोन ले सकता है। बैंक इसके लिए होम इम्प्रूवमेंट लोन देते हैं।

ब्रिज होम लोन:

यह होम लोन उस अवधि के लिए दिया जाता है जब तक कि मालिक नई संपत्ति खरीदने के बाद मौजूदा संपत्ति को बेच नहीं देता। यह होम लोन मौजूदा संपत्ति की बिक्री के लिए लगने वाले समय से उत्पन्न होने वाले धन अंतर को पाटने में मदद करता है। ब्रिज लोन आम तौर पर कम समय के लिए होता है। बैंक अधिकतम दो साल तक के लिए यह लोन देते हैं।

इन्हे भी जरूर पढ़ें।

होम लोन लेने से पहले इन 10 बातों का रखें खयाल

होम लोन लेना कोई बुरी बात नहीं है, लेकिन इसे समय पर चुकाना महत्वपूर्ण है। ऐसे में अगर आप भी सोच रहे हैं कि होम लोन कैसे लें। ( Home Loan Kaise Le ) तो आपको होम लोन लेने से पहले कुछ बातों के बारें में जरूर जानना चाहिए। वरना आप होम लोन लेने के बाद मुश्किल में फंस सकते हो। जिसके कारण आपको काफी नुकसान भी हो सकता हैं।

लोन की ब्याज दर:

होम लोन लेते समय, आपको जरूरी है कि आप लोन की ब्याज दर को देखें। ब्याज दर आपके लोन के कॉस्ट को प्रभावित कर सकती है। अगर ब्याज दर ज्यादा है, तो आपकी ईएमआई भी ज्यादा होगी। यह आपके लोन की वापसी को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, लोन की ब्याज दर को सावधानीपूर्वक चेक करें और तभी लोन का निर्णय लें।

लोन की अवधि:

आपको यह तय करना होगा कि आप लोन की किस अवधि के लिए आवेदन कर रहे हैं। इसके आधार पर आपकी ईएमआई और कुल लोन की वसूली की अवधि निर्धारित होगी।

यदि आप लंबी अवधि के लिए लोन लेते हैं, तो आपकी ईएमआई कम होगी, लेकिन ब्याज कुल लोन की रकम पर ज्यादा होगा। इसलिए, आपको अपनी वित्तीय स्थिति के हिसाब से अवधि का चयन करना होगा, जिससे आपकी ईएमआई और कुल कॉस्ट आपके बजट में रहें।

कैलकुलेटर का इस्तेमाल करें:

लोन लेते समय, एक कैलकुलेटर का उपयोग करके आप अपनी ईएमआई को ज्यादा स्पष्टता से समझ सकते हैं। बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के वेबसाइट पर आपको ईएमआई कैलकुलेटर उपलब्ध होते हैं, जिनका उपयोग करके आप लोन की ईएमआई को जान सकते हैं।

प्रोसेसिंग फी:

जब आप होम लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो बैंक प्रोसेसिंग फी भी लेता है। इसे आपके लोन की प्रोसेसिंग के लिए भुगतान करना होता है। आपको प्रोसेसिंग फी के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए और यह फी आपकी जेब पर बोझ नहीं डालनी चाहिए।

हिडेन कॉस्ट को ध्यान से देखें। :

लोन की अवधि के साथ ही, आपको हिडेन कॉस्ट भी देखना होगा, जैसे कि प्रॉसेसिंग फी, लीगल फी, इनश्योरेंस फी, डॉक्यूमेंटेशन फी, और अन्य चार्जेज। इन चार्जेज को समझना और उन्हें अपने लोन के कॉस्ट में शामिल करना भी महत्वपूर्ण है।

क्रेडिट स्कोर:

आपके क्रेडिट स्कोर का भी ध्यान रखें, क्योंकि यह आपके लोन की मंजूरी पर प्रभाव डाल सकता है। अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, तो आपको बेहतर ब्याज दर मिल सकती है और लोन की मंजूरी जल्दी मिल सकती है।

वित्तीय स्थिति ठीक रखें

लोन लेते समय आपकी वित्तीय स्थिति को मजबूत रखना महत्वपूर्ण है। बैंक आपकी वित्तीय स्थिति की जाँच करता है और प्रॉपर्टी के मूल्य को देखने के बाद ही लोन देता है। वित्तीय स्थिति सुधारी हुई होने पर ही लोन की राशि तय होती है।

कागजात संभाल कर रखें:

लोन लेने के लिए जरूरी कागजात जैसे कि इनकम स्टेटमेंट, सैलरी स्लिप, फॉर्म 16, बैंक स्टेटमेंट, ताजा आईटी रिटर्न, एज प्रूफ, एड्रेस प्रूफ, फोटो पहचान पत्र, प्रॉपर्टी के कागजात आदि को ध्यानपूर्वक संभाल कर रखें। इससे लोन लेने में सुविधा होगी।

जज्बात से नहीं, दिमाग से काम करें:

लोन लेते समय भावनाओं में नहीं बल्कि विवेकपूर्वक निर्णय लें। जल्दबाज़ी में या भावनात्मक होकर लोन लेने से बचें। अनवांछित प्रॉपर्टी खरीद या अधिक ब्याज के लिए फंसने से बचें।

टर्म और कंडीशन को जरूर पढ़ें:

लोन लेने से पहले, बैंक के ‘शर्तें लागू’ वाले कॉलम को विस्तार से पढ़ें। बैंक की नीतियों और शर्तों को समझें, ताकि बाद में कोई दिक्कत ना आए। यह सुनिश्चित करें कि बैंक के नियम और शर्तें आपके अनुरूप हों और आप लोन की सभी शर्तें समझते हों।

डाउन पेमेंट की व्यवस्था करें।

जब आप होम लोन लेने की सोच रहे हैं, तो पहले ही से डाउन पेमेंट की व्यवस्था करें। होम लोन के लिए आपको प्रॉपर्टी की कुल कीमत का 10 फीसदी से 25 प्रतिशत तक डाउन पेमेंट करना होता है।

मान लीजिए, आप एक 40 लाख रुपये का होम लोन ले रहे हैं, तो आपको करीब 8 लाख रुपये का डाउन पेमेंट जमा करना होगा। आप प्रधानमंत्री आवास योजना का भी लाभ उठा सकते हैं, जो कि पहले घर खरीदने वालों के लिए है।

इंटरेस्ट रेट कर लें पता:

होम लोन लेने से पहले, बैंकों के होम लोन पर ब्याज दर की जांच जरूर करें। आप जिस बैंक से लोन लेने की सोच रहे हैं, उसकी अच्छे से जानकारी प्राप्त करें। आपका क्रेडिट स्कोर भी महत्वपूर्ण है।

यदि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है, तो लोन की मंजूरी मिलने की संभावना बढ़ जाती है। उम्रदराज क्रेडिट स्कोर वाले लोगों को भी बैंकों से लोन मिलते हैं, लेकिन दिक्कतें हो सकती हैं।

इन्हे भी जरूर पढ़ें।

होम लोन देने वाले बैंक Home Loan Dene Wale Bank

🏦 भारतीय स्टेट बैंक: भारतीय स्टेट बैंक में होम लोन की वार्षिक ब्याज दर 8.55% है, और इसके साथ 0.35% की प्रोसेसिंग फीस चुकनी पड़ती हैं।

🏦 बैंक ऑफ बड़ौदा: बैंक ऑफ बड़ौदा ने होम लोन पर 8.45% की वार्षिक ब्याज दर निर्धारित की है।

🏦 बैंक ऑफ इंडिया: बैंक ऑफ इंडिया में होम लोन की वार्षिक ब्याज दर 8.60% है।

🏦 एचडीएफसी बैंक: एचडीएफसी बैंक होम लोन पर 8.60% वार्षिक ब्याज दर और 0.5% या लगभग ₹3,000 की प्रोसेसिंग फीस वसूलता है।

🏦 एक्सिस बैंक: एक्सिस बैंक में होम लोन के लिए 8.75% वार्षिक ब्याज दर और ₹10,000 की प्रोसेसिंग फीस है।

🏦 केनरा बैंक: केनरा बैंक होम लोन पर 9.30% वार्षिक ब्याज दर और 0.50% प्रोसेसिंग फीस लेता है।

🏦 पंजाब नेशनल बैंक: पंजाब नेशनल बैंक होम लोन पर 7.75% वार्षिक ब्याज दर और जीरो प्रोसेसिंग फीस प्रदान करता है।

🏦 कोटक महिंद्रा बैंक: कोटक महिंद्रा बैंक होम लोन पर 7.99% वार्षिक ब्याज दर और 0.50% प्रोसेसिंग फीस लेता है।

🏦 सिटी बैंक: सिटी बैंक में होम लोन की वार्षिक ब्याज दर 6.65% है, और इसके साथ ₹10,000 की प्रोसेसिंग फीस भी लगती है।

🏦 सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया: सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में होम लोन की वार्षिक ब्याज दर 8.35% से 9.35% के बीच है, और यह बैंक ₹20,000 की प्रोसेसिंग फीस लेता है।

🏦 यूनियन बैंक ऑफ इंडिया: यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में होम लोन की वार्षिक ब्याज दर 11.40% से 12.65% के बीच है।

निष्कर्ष- Home Loan Kaise Le

यहाँ पर हमने आपको होम लोन के बारें में विस्तार से जानकारी दी हैं। की होम लोन क्या हैं। home loan kya hota hai होम लोन कैसे लें। home loan kaise le अगर आपको हमारी ये जानकारी पसंद आई हैं तो आप अपनी राय हमें कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताएं।

इस जानकारी को उन लोगों के साथ भी जरूर शेयर करें। जो गोल्ड लोन के बारें में जानकारी इसका लाभ लेना चाहते हैं। गोल्ड लोन को लेकर अगर आपका किसी भी प्रकार का कोई सवाल हैं तो आप अपनी राय हमें कमेन्ट बॉक्स में जरूर बता सकते हैं।

Digitcoin

Share Market, Cryptocurrency, Mutual Fund, Money Management, Finance इत्यादि के बारें में जानकारी प्राप्त करने क लिए हमारी वेबसाइट www.digitcoin.in पर जरूर विजिट करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button